Saturday, September 24, 2022

रोटावेटर [ Rotavator ] क्या है इससे होने वाले लाभ और इसका उपयोग,सब्सिडी,कीमत

spot_imgspot_imgspot_img
Use of rotavator
Rotavator

रोटावेटर (Rotavator) खेतों की समुचित जुताई के लिए यह एक अति आधुनिक कृषि यंत्र है इससे जुताई करने पर मिट्टी बहुत छोटे-छोटे टूकङो मे बट जाता है और पूरी खेत के मिट्टी को अच्छी तरह से भुरभुरा कर देता है | इस मशीन को ट्रैक्टर के पी॰टी॰ओ॰ द्वारा चलाया जाता है इस यंत्र का मुख्य कार्य मिट्टी को भुरभुरा बनाना है और इसके साथ-साथ मक्का,गेहूं,धान,खरपतवार,घास-फूस,पौधों की छोटीमोटी जड़ो आदि के अवशेष को मिट्टी मे ही काटकर मिश्रित करने के लिए उपयुक्त माना जाता है |

इस यंत्र की सबसे अच्छी विशेषता यह है की इससे एक या दो बार के उपयोग से ही खेत बुआई के लिए पूरी तरह तैयार हो जाती है | यह यंत्र बिना किसी पूर्व जुताई के ही धान के खेत मे अच्छी तरह से कडवा कर डालता है इस यंत्र के द्वारा खरपतवार को काटकर अच्छी तरह मिट्टी मे मिला देने से मिट्टी की उर्वरा शक्ति भी बढ़ती है |


रोटावेटर क्या है [ What is rotavator ]

रोटावेटर (Rotavator) एक आधुनिक कृषक यंत्र है जिससे खेतों की समुचित जुताई के लिए यह एक अति आधुनिक कृषि यंत्र मानी जाती है | इस यंत्र का मुख्य कार्य मिट्टी को भुरभुरा बनाना है और इसके साथ-साथ मक्का,गेहूं,धान,खरपतवार,घास-फूस,पौधों की छोटीमोटी जड़ो आदि के अवशेष को मिट्टी मे ही काटकर मिश्रित करने के लिए उपयुक्त माना जाता है | रोटावेटर का प्रमुख्य भाग – फ्रेम,ब्लैड,हिच पॉइंट,साइड गेयर बॉक्स,शाफ़्ट,गेयर बॉक्स,ट्राइलिंग बोर्ड तथा गहराई नियंत्रण गार्ड आदि होते है | बाजार मे ट्रैक्टर से चलने वाली रोटावेटर 4 फिट से 7 फिट तक की चौराई मे उपलब्ध होते है | जिसे आप अपनी लागत और आवश्यकता के अनुसार खरीद सकते है | 4 फिट के रोटावेटर के लिए 30-35 अश्वशक्ति का ट्रैक्टर उपयुक्त माना जाता है | रोटावेटर एक कीमती कृषि यंत्र है जो मुख्य रूप से खेत की जुताई के लिए बनाया गया है |


Rotavator
Rotavator से खेत की जुताई करते किसान

रोटावेटर से लाभ [ Benefit from rotavator ]

  • यह यंत्र खेत की मिट्टी को अच्छी तरह से भुरभुरा बना देता है जिससे किसान की श्रम की बचत होती है |
  • इससे खेत की जुताई करने पर खरपतवार छोटे-छोटे टूकङो मे कट कर मिट्टी मे मिल जाते है जो सङकर जीवांश की मात्रा को बढाते है |
  • यह यंत्र जुताई के अन्य यंत्रों की चार-पाँच जुताई के बराबर अपनी एक ही जुताई से खेत को भुरभुरा बना देता है |
  • रोटावेटर यंत्र के उपयोग करने से अन्य यंत्र के अपेक्षा इसमे ईंधन की खपत कम होती है | जिससे जुताई की लागत मे कमी आती है |
  • यह यंत्र 4 से 5 इंच तक की जुताई करता है |
  • एक ही बार मे खेत बुआई करने के योग्य हो जाता है |
  • इससे जुताई करने पर 50% समय की बचत होती है |
  • परंपरिक विधि की तुलना मे प्रति हेक्टेयर 1000 से 1400 रुपये की बचत होती है |
  • इससे उत्पादन मे 10 से 15 % की वृद्धि होती है |

✔    रीपर बाइंडर (Reaper binder) फसल कटाई के साथ-साथ फसलो को रस्सी से गठरियाँ भी बांधती है


रोटावेटर का उपयोग [ Use of rotavator ]

रोटावेटर का उपयोग खेत की मिट्टी को अच्छी तरह से तैयार करने के लिए किया जाता है यह यंत्र मिट्टी को भुरभुरा बनाता है और इसके साथ-साथ ही मक्का,गेहूं,धान, खरपतवार,घास-फूस,पौधों की छोटीमोटी जड़ो आदि के अवशेष को मिट्टी मे ही काटकर मिश्रित कर देता है जो सङकर जीवांश की मात्रा को बढाते है | जिससे की मिट्टी की उर्वरा शक्ति भी अच्छी रहती है | इस यंत्र का उपयोग करने से 10 से 15 % की उत्पादन मे वृद्धि होती है |


Rotavator price
Rotavator से खेत की जुताई करते हुए किसान

रोटावेटर की कीमत [ Rotavator price in india ]

रोटावेटर (Rotavator) मशीन की कीमत करीब 50 हजार से 1.5 लाख  रुपया तक की होती है और इसकी कीमत कंपनी के ऊपर भी निर्भर करती है अलग-अलग कंपनी की कीमत अलग-अलग होती है | ये आप पर निर्भर करता है की आप कौन सी कंपनी का रोटावेटर खरीद रहे है | इसमे भी कई प्रकार के रोटावेटर मशीन आते है जिसकी कीमत भी अलग होती है |

✔     Laser Land Leveler क्या है ? लेजर लैंड लेवलर का कार्य,विशेषता,लाभ,कीमत की सम्पूर्ण जानकारी


रोटावेटर पर सब्सिडी [ Subsidy on rotavator ]

किसानों को समय-समय पर राज्यों के द्वारा रोटावेटर पर सब्सिडी प्रदान की जाती है | सब्सिडी की दर सभी राज्यों में अलग अलग होती है |

सब्सिडी की और अधिक जानकारी के लिए DBT (Department of Agriculture कृषि विभाग) की वेबसाईट को चेक करे | 


निष्‍कर्ष [ Conclusions ]

इससे यही निष्कर्ष निकलता है कि रोटावेटर (Rotavator) किसान भाइयों के लिए बहुत ही उपयोगी यंत्र है | इससे मजदूरी, समय और पैसे आदि की भी बचत होती है | और इसके साथ-साथ ही मक्का,गेहूं,धान, खरपतवार,घास-फूस,पौधों की छोटीमोटी जड़ो आदि के अवशेष को मिट्टी मे ही काटकर मिश्रित कर देता है जो सङकर जीवांश की मात्रा को बढाते है | जिससे की मिट्टी की उर्वरा शक्ति भी अच्छी रहती है | इस यंत्र का उपयोग करने से 10 से 15 % की उत्पादन मे वृद्धि होती है |


ये भी पढे :-

✔   जैविक खाद के फायदे और इनके प्रकार – Organic Manure क्या है 

✔    जीरो टिलेज क्या है इसकी कीमत,सब्सिडी,रख-रखाव और इससे होने वाले लाभ 

 

 

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

6,000FansLike
5,000SubscribersSubscribe

Categories

- Advertisement -

Latest Articles

error: Content is protected !! Do\'nt Copy !!