Saturday, September 24, 2022

बिना मिट्टी के सब्जी व फलों उगाए | हाइड्रोपोनिक्स खेती कैसे होती है | – Hydroponic Farming क्या है |

spot_imgspot_imgspot_img
Hydroponic Farming
Hydroponic Farming

हाइड्रोपोनिक्स खेती (Hydroponic Farming) मे बिना मिट्टी के सब्जी व फलों उगाया जा सकता है | इस हाइड्रोपोनिक्स खेती के माध्यम से सिर्फ पानी के सहारे बिना मिट्टी के सब्जी व फलों उगाया जा सकता है | आपके मन मे अक्सर ये सवाल आता है कि जो आप सब्जी व फल लाते है वो रासायनिक खादों से तैयार तो नहीं है | तब आप सोचते है की अगर आपके पास भी खेती योग्य जमीन होता तो आप उसमे ऑर्गैनिक फ़ार्मिंग करते | लेकिन अब आप हाइड्रोपोनिक्स खेती (Hydroponic Farming) कर सकते है जिसमे आप रासायनिक खादों और बिना मिट्टी के माध्यम से सब्जी व फलों उगाया जा सकता है | इस तकनीक मे पानी, पोषक तत्व और सूर्य के प्रकाश की आवश्यकता होती है।


हाइड्रोपोनिक्स खेती क्या है [ What is hydroponics farming ]

सिर्फ पानी में या बालू,छोटे-छोटे पत्थरअथवा कंकड़ों के बीच नियंत्रित जलवायु में बिना मिट्टी के पौधे उगाने की तकनीक को हाइड्रोपोनिक्स खेती (Hydroponic Farming) कहते हैं। इस तकनीक के मदद से जहा पानी की कमी होती है तथा जाहा मिट्टी की उपजाऊ शक्ति कम होती है वाहा पर आसानी से सब्जी व फलों उगाया जा सकता है | इस तकनीक मे पानी, पोषक तत्व और सूर्य के प्रकाश की आवश्यकता होती है। मुख्यतः पेङ-पौधे अपने आवश्यक पोषक तत्व मिट्टी से ही ग्रहण करती है | लेकिन हाइड्रोपोनिक्स खेती (Hydroponic Farming) मे ऐसा नहीं होता है इसमे पेङ-पौधे पानी के सहारे उगाया जाता है | इसमे पानी की भी उतना ही इस्तमाल होता है जितना की पेङ-पौधे की जरूरत होती है |


hydroponics farming
हाइड्रोपोनिक्स खेती

हाइड्रोपोनिक्स खेती कैसे करे [ How is hydroponics farming ]

हाइड्रोपोनिक्स खेती (Hydroponic Farming) की तकनीक मे पानी, पोषक तत्व और सूर्य के प्रकाश की आवश्यकता होती है। इस तकनीक मे जितना पानी, पोषक तत्व और सूर्य के प्रकाश की आवश्यकता होती है सिर्फ उतना ही पेङ-पौधे को दी जाती है | इसमे पानी का उपयोग भी आवश्यकता के अनुसार ही किया जाता है | इस तकनीक मे मिट्टी के जगह पर पानी का उपयोग किया जाता है | इस तकनीक मे एक पाइप मे कुछ होल होते है जिनमे पौधे लगाए जाते है और पाइप मे पानी भरा होता है | और इसे ऐसी जगह पर रखा जाता है जाहा का तापमान 15 से 30 डिग्री सेल्सियस हो तथा लगभग 80 से 85 प्रतिशत आर्द्रता में उगाया जाता है। हाइड्रोपोनिक्स तकनीक मे पेङ-पौधों को पोषक तत्व देने के लिए नाइट्रोजन, फास्फोरस, पोटाश, मैग्नीशियम, कैल्शियम, सल्फर, जिंक,आ

Related Articles

Stay Connected

6,000FansLike
5,000SubscribersSubscribe

Categories

- Advertisement -

Latest Articles

error: Content is protected !! Do\'nt Copy !!