Saturday, November 26, 2022

कल्टीवेटर से करे खेतों की जुताई – Cultivator क्या है इसका उपयोग,सब्सिडी,कीमत और इससे होने वाले लाभ

spot_imgspot_imgspot_img
Cultivator
Cultivator

आज के आधुनिक युग मे जानवरों से खेती करने का चलन लगभग खत्म हो गया है | खेती को आधुनिक बनाने के लिए दिन प्रति दिन नई-नई तकनीकों का आविष्कार हो रहा है इन तकनीकों के मदद से खेती-बाड़ी कारना आसान होते जा रहा है | खेती-बाड़ी में जुताई को विशेष स्थान दिया गया है क्योंकि फसल का अच्छा उत्पादन खेत की बेहतर जुताई पर भी निर्भर करता है | खेत की जुताई करने के लिए किसान कई प्रकार के कृषक यंत्र की सहायता लेते है | जिनमे से एक है कल्टीवेटर (Cultivator) मशीन |

कल्टीवेटर (Cultivator) यह यंत्र मिट्टी पलटने का कार्य करने के साथ-साथ मिट्टी को भुरभुरा बनाता है | आज के आधुनिक युग देशी हल के स्थान पर  कल्टीवेटर का प्रयोग किया जाने लगा है इसके प्रयोग से कम समय मे अधिक क्षेत्रफल पर कार्य सम्पन्न किया जा सकता है | जिससे मेहनत,समय और पैसे की बचत की जा सकती है | इसका उपयोग करने से खेत मे उपस्थित खरपतवार,घास जङ सहित कट कर नष्ट हो जाता है | या मिट्टी के अलग होकर जमीन के ऊपर आ जाता है जो बाद मे सूर्य की तीव्र गर्मी के कारण सुख कर नष्ट हो जाता है |


कल्टीवेटर क्या है [ What is cultivator ]

कल्टीवेटर (Cultivator)  एक आधुनिक कृत्रिम कृषक यंत्र है जिसकी सहायता से खेतो की जुताई की जाती है | ये मशीन भूपरिष्करण कार्य करता है ये यंत्र मिट्टी पलटने के साथ मिट्टी को भुरभुरा बनाता है | जिससे छिटकवाँ विधि से बोई गई बीजों को मिट्टी मे एक समान रूप से मिलाने तथा ढकने के लिए इस यंत्र का प्रयोग किया जाता है | इस माशीन को चलाने के लिए ट्रैक्टर की जरूरत पङती है | इस मशीन को ट्रैक्टर के पीछे लगाकर चलाया जाता है | तो इस मशीन को ट्रैक्टर चालित कल्टीवेटर कहते है | कल्टीवेटर मे भी एक पशु चालित कल्टीवेटर आते है जिसे पशुओ के माध्यम से खिचा जाता है |

>>>  रीपर मशीन से करें फसलों कि कटाई


कल्टीवेटर के प्रकार [ Types of cultivators ]

शक्ति स्त्रोत के आधार पर कल्टीवेटर दो प्रकार के होते है |

  1. पशु चालित कल्टीवेटर
  2. ट्रैक्टर चालित कल्टीवेटर

कल्टीवेटर मुख्यतः तीन प्रकार के होते है |

  1. स्प्रिंग युक्त कल्टीवेटर
  2. स्प्रिंग रहित कल्टीवेटर
  3. डक फुट कल्टीवेटर

✔     बूम स्प्रेयर क्या है इसकी कीमत,उपयोग और इससे होने वाली लाभ


पशु चालित कल्टीवेटर

इस प्रकार के कल्टीवेटर को पशुओ के माध्यम से खींचा जाता है जिससे खेत की जुताई होता है इस कल्टीवेटर मशीन की बनावट ट्रैक्टर चालित कल्टीवेटर का जैसा ही होता है | आज के आधुनिक समय मे पशुओ की घटती सख्या के कारण अब इस यंत्र का उपयोग करीब-करीब बंद हो चुका है |


Cultivator
Cultivator

ट्रैक्टर चालित कल्टीवेटर

इस प्रकार के कल्टीवेटर को ट्रैक्टर के माध्यम से खींचा जाता है इस कल्टीवेटर का आकार और वजन दोनों पशु चालित कल्टीवेटर से अधिक होता है ट्रैक्टर चालित कल्टीवेटर किसान भाइयों के बीज बहुत लोकप्रिये है | इस यंत्र को ट्रैक्टर के पीछे जोङते है और हाईड्रोलिक के माध्यम से अपनी आवश्यकता और जरूरत के हिसाब से ऊपर और नीचे उठाते और गिरते है |


स्प्रिंग युक्त कल्टीवेटर [ Spring Loaded Tine Cultivators ]

इस कल्टीवेटर का उपयोग मुख्य रूप से उन मिट्टियों मे किया जाता है जिसमे पत्थर के छोटे-छोटे टूकङे या फसलों के ठूँठ मौजूद होते है ट्रैक्टर चालित स्प्रिंग युक्त कल्टीवेटर फ्रेम से स्प्रिंग युक्त टाईन लगे होते है इसमे स्प्रिंग लगे होने के कारण जुताई करते समय फार पर पङने वाले दबाव को एकाएक कारके सहन कर लेते है जिससे फार और टाईन टूटने से बच जाता है | इससे बिना किसी नुकसान के खेत की जुताई हो जाता है |

✔  मुर्गी पालन कैसे शुरू करे इसमे होने वाली लाभ,बीमारिया,लोन | Poultry Farming क्या होता है सम्पूर्ण जानकारी


स्प्रिंग रहित कल्टीवेटर [ Rigid Tine Cultivator ]

इस कल्टीवेटर का उपयोग कंकरिली या पथरीली भूमि मे नहीं किया जाता है | इस प्रकार के कल्टीवेटर मे स्प्रिंग नहीं होता है इसमे टाईन मजबूती के साथ फ्रेम से इस प्रकार लगा होता है की जुताई के समय दबाव पङने पर वह अपने स्थान से विचलित न हो | इसमे टाईन की दूरी को आवश्यकता और जरूरत के हिसाब से नट-बोल्ट को खोलकर आसानी से बदला जा सकता है | इस यंत्र खरपतवार को दूर करने में सहायक होता है |


 Benefit from cultivator
cultivator से जुताई करते हुए किसान

डक फुट कल्टीवेटर [ Duck Foot Cultivator ]

इस कल्टीवेटर का उपयोग मुख्य रूप से उथली जुताई करने खरपटवारों को नष्ट करने तथा मिट्टी मे नमी को संरक्षण करने के लिए इसका उपयोग किया जाता है | इसका बनावट स्प्रिग रहित कल्टीवेटर का जैसा ही होता है | इसमे फारों की संख्या जरूरत और आवश्यकता के अनुसार कम या ज्यादा किया जा सकता है | इसमे टाईन का आकार बतख के पैर जैसा होता है | इसलिए इस कल्टीवेटर को डक फुट कल्टीवेटर कहा जाता है |


कल्टीवेटर से लाभ [ Benefit from cultivator ]

  • इस यंत्र का प्रयोग खेत की मिट्टी की जुताई के लिए किया जाता है इसके प्रयोग से खेत मे उपस्थित खरपतवार,घास जङ सहित कट कर नष्ट हो जाता है | या मिट्टी के अलग होकर जमीन के ऊपर आ जाता है जो बाद मे सूर्य की तीव्र गर्मी के कारण सुख कर नष्ट हो जाता है |
  • छिटकवाँ विधि से बोई गई बीजों को मिट्टी मे एक समान रूप से मिलाने तथा ढकने के लिए इस यंत्र का प्रयोग किया जाता है |
  • |
  • पंक्तियों मे बोई गई फसलों मे निकाई-गुराई का कार्य भी  कल्टीवेटर की मदद से किया जा सकता है |
  • इसकी सहायता से फसल की जङो पर मिट्टी चढाने का कार्य किया जा सकता है|

✔    भेड़ पालन कैसे शुरू करें इसमे होने वाली फायदे,बीमारिया,लोन,नस्ल


कल्टीवेटर की कीमत [ Cultivator price ]

कल्टीवेटर (Cultivator) की कीमत लगभग 12  हजार से 60 हजार  रुपया तक की होती है और इसकी कीमत कंपनी के ऊपर भी निर्भर करती है अलग-अलग कंपनी की कीमत अलग-अलग होती है | ये आप पर निर्भर करता है की आप कौन सी कंपनी का कल्टीवेटर खरीद रहे है | इसमे भी कई प्रकार के कल्टीवेटर मशीन आते है जैसे की पशु चालित कल्टीवेटर,ट्रैक्टर चालित कल्टीवेटर जिसकी कीमत भी अलग होती है | आप अपनी जरूरत और आवश्यकता के अनुसार कल्टीवेटर का चुनाव करे |


Benefit from cultivator
cultivator से जुताई करते हुए किसान

कल्टीवेटर पर सब्सिडी [ Subsidy on cultivator ]

किसानों को समय-समय पर राज्यों के द्वारा कल्टीवेटर (Cultivator) पर सब्सिडी प्रदान की जाती है | सब्सिडी की दर सभी राज्यों में अलग अलग होती है |

सब्सिडी की और अधिक जानकारी के लिए DBT (Department of Agriculture कृषि विभाग) की वेबसाईट को चेक करे | 


निष्‍कर्ष [ Conclusions ]

इससे यही निष्कर्ष निकलता है कि कल्टीवेटर (Cultivator) किसान भाइयों के लिए बहुत ही उपयोगी यंत्र है | इससे मजदूरी, समय और पैसे आदि की भी बचत होती है  ये यंत्र मिट्टी पलटने के साथ मिट्टी को भुरभुरा बनाता है | जिससे छिटकवाँ विधि से बोई गई बीजों को मिट्टी मे एक समान रूप से मिलाने तथा ढकने के लिए इस यंत्र का प्रयोग किया जाता है | इस यंत्र के प्रयोग से कम समय मे खाद मिट्टी मे अच्छी तरह से मिल जाती है | इससे हमारी खाद का नुकसान नहीं होता है | इस यंत्र के उपयोग मे लाने से खेतो की मिट्टी को भुरभुरा बनाकर बुआई के लिए शीघ्र तैयार किया जा सकता है | इससे मिट्टी मे नमी संरक्षण भी होता है |


ये भी पढे :-

✔   जाने बौछारी सिंचाई के अनेक लाभ 

✔    जाने  फसल काटने की मशीन के बारे मे

Related Articles

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

6,000FansLike
5,000SubscribersSubscribe

Categories

- Advertisement -

Latest Articles

error: Content is protected !! Do\'nt Copy !!